लीवर की कमजोरी को दूर करने के उपाय – Liver Ki Beemari Ka ilaaj

1
1198
Liver Ki Beemari Ka ilaaj
Liver Ki Beemari Ka ilaaj

Liver Ki Beemari Ka ilaaj

Liver Ki Beemari Ka ilaaj लीवर हमारे शरीर का एक महत्वपूर्ण हिस्सा है. लीवर को हिंदी में यकृत कहते हैं. लीवर हमारे शरीर के लिए खाना पचाने, शरीर से हानिकारक पदार्थो को दूर निकालने, शरीर को एनर्जी देने आदि काम करने में सहायता प्रदान करता है. लीवर में इन्फेक्शन होने का खतरा ज्यादा रहता है. लीवर को इन्फेक्शन से दूर रखना बहुत ही जरुरी होता है. लीवर इन्फेक्शन से बीमारी होने का खतरा रहता है.

हार्ट अटैक (दिल का दौरा) पड़ने के लक्षण, कारण, और बचाव

गुस्सा कम करने के तरीके 

लीवर की कमजोरी और बीमारी को दूर करने के उपाय:

  •  फैटी लीवर, लीवर कैंसर
  • लीवर में सूजन
  •  पीलिया जॉन्डिस
  •  हैपेटाइटिस , लीवर सिरोसिस

लीवर खराब होने के लक्षण

लीवर की बीमारी को रोकने के लिए उसके लक्षणों का पता होना जरुरी है तभी उसका इलाज संभव है. लीवर की कमजोरी के बहुत से लक्षण देखने को मिल सकते है अगर आपको इनमें से कोई भी लक्षण दिखे तो कोई भी लापरवाही ना करें मरीज का इलाज तुरंत करायें, बरना यह आपके लिए बहुत ही खतरनाक साबित हो सकता है.

1. लीवर इन्फेक्शन होने पर मुहं से गन्दी बदबू आने लगती है. यह लीवर की बीमारी का मुख्य लक्षण है. 2- त्वचा पर सफ़ेद रंग के धब्बे पड़ जाना, त्वचा का रंग सफ़ेद होने लगना, यह भी लीवर की खराबी का एक लक्षण है. 3- पाचन किर्या का खराब होना. मल का गहरे रंग का आना यह पाचन किर्या का ख़राब होना है. अगर आपका मल बहुत दिन से गहरे रंग का आ रहा है तो आप समझ जाए कि आपके लीवर में कोई ना कोई इन्फेक्शन हो गया है जिस बजह से आपका मल ऐसा आ रहा है ऐसा होने पर तुरंत चिकत्सक से मिले. 4- लीवर इन्फेक्शन के होने पर चहरे और आँखों पर पीलापन आने लगता है.
5. अगर आपके आँखों के नीचे काले घेरे है जो बहुत दिनों से आँखों के नीचे घर किये हुए है जो हटने का नाम ही नहीं ले रहे तो इसे आप चिकत्सक को दिखाएँ कही ये लीवर की खराबी के कारण तो नहीं हो रहा. 6. लीवर की खराबी होने पर पेट में सूजन आने लगती है. बहुत ज्यादा कमजोरी आना. यह भी लीवर खराबी का एक लक्षण है.

Liver Ki Beemari Ka ilaaj
Liver Ki Beemari Ka ilaaj

लीवर की कमजोरी (बीमारी) के कारण: Liver weakness  

लीवर की खराबी का कारण वायरस और आनुवांशिक रोगों होना मुख्य कारक माने जाते हैं.
1. चिकनाई चीजों का सेवन करना, तेल मसाले आदि का ज्यादा सेवन करना
२. सिगरेट और शराब ज्यादा पीना, लीवर खराबी का यह एक मुख्य कारण है.
3. ज्यादा दवाई का सेवन करना, एंटीबायोटिक दवाएं और स्टेरॉयड का सेवन करना, लीवर की खराबी का प्रमुख कारण है.
4. पेट खराब का होना, लगातर बहुत दिनों तक कब्ज का रहना

लीवर की खराबी (कमजोरी) को दूर करने के उपाय: Liver weakness treatment in hindi

लीवर हमारे शरीर के लिए एक महत्वपूर्ण अंग है. लेकिन आजकल लीवर की खराबी के कारण बहुत सी बीमारियाँ बढ़ती जा रही है. आपको पता होगा कि लीवर ही कार्बोहाइड्रेट को ग्लूकोज में बदलता है और टॉक्सिक पदार्थों को नष्ट करके प्रोटीन में तब्दील कर देता है. इसके ऐसा करने से शरीर में इन्फेक्शन होने का खतरा कम रहता है. लीवर की खराबी को दूर करने के बहुत से उपाय है आइये जानते है.
1. पपीते का सेवन करने से लीवर में होने वाले सूजन को ख़त्म किया जा सकता है. नींबू के रस में पपीते का 3 चम्मच रस मिलाकर दिन में तीन बार सेवन करें. और आपको इसका सेवन 2 महीने तक करना है. ऐसा करने से आपके लीवर में होने वाली सूजन ख़त्म हो जाएगी.
२. लीवर की कमजोरी को दूर करने के लिए आंवला सबसे कारगर औषधि का काम करता है. आंवला में विटामिन सी भरपूर मात्रा में होती है. जो लीवर को सामान्य रूप से काम करने में मदद करता है. आंवले का सेवन करने से लीवर से संबंधित सारी बीमारियाँ ख़त्म हो जाती हैं.
3. प्याज का नियमित सेवन करने से लीवर की बीमारियों को दूर किया जा सकता है. प्याज का सेवन खाना खाते समय सलाद के रूप में भी कर सकते हैं. प्याज के सेवन से लीवर सिरोसिस की समस्या को खत्म किया जा सकता है.
4. पालक और गाजर का सेवन करने से लीवर की कमजोरी को दूर किया जा सकता है. गाजर सलाद के रूप में भी खा सकते हैं. गाजर का जूस सुबह-शाम पीना चाहिए इस उपाय से लीवर की अनेक बीमारियां जल्दी ठीक हो जाती हैं.
5. हरी सब्जियां ज्यादा से ज्यादा खाएं. जैसे लौकी, गाजर, करेला, पालक, मुली, खीरा आदि. फलों में आप जामुन, लीची, आंवला, पपीता, सेब आदि का सेवन करने से लीवर की बीमारियों को दूर किया जा सकता है.

लीवर की देखभाल के उपाय: Liver Ki Beemari Ka ilaaj

1. शराब और धूम्रपान का सेवन ना करें.
२. तली हुई चीजों का सेवन ना करें, ज्यादा मसालेदार भोजन का सेवन ना करें.
3. सुबह बिना कुछ खाए पानी पीने के आदत डालें, और पूरे दिन में ज्यादा से ज्यादा पानी पिए.
4. योगा और एक्सरसाइज करें
5. अनचाही दवाओं का सेवन ना करें.

1 COMMENT

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.